बकरी पालन में इन बातों का रखे ध्यान – सस्ते और अच्छे नसल वाले बकरी के बच्चे कहाँ से खरीदें

इस लेख में मैं आपको बताऊंगा के बकरी पालन के लिए आप कहाँ से सस्ते और अच्छे नसल वाले बकरी के बच्चे को खरीद सकते हैं और मैं आपको उन बातों को भी बताऊंगा जो बहुत ही महत्वपूर्ण और ध्यान देने योग्य है ।

जब हम बकरी पालन करने का निशचय कर लेते हैं तो मन में अनेक तरह के सवाल आते हैं जैसे :

  • बकरी के शेड को कैसा बनाये , कितना बड़ा बनाये कितना खर्चा आएगा
  • सही नसल के अच्छे और सस्ते बकरे कहाँ से खरीदें
  • बकरियों को आहार कैसा देना चाहिए के वह जल्दी बड़े हों अथवा कितने दिन में वह बाजार में बेचने के लायक हो जाते हैं
  • अगर बकरी बीमार हो तो क्या करें कौन सी दवाई दें इत्यादि वैसे तो और भी अनेक प्रश्न हैं जो मैं आपको इस लेख में बताने का प्रयत्न करूँगा

दोस्तों किसी भी व्यवसाय को करने के लिए उसके रिस्क मैनेजमेंट को अच्छे तरह से जान लेना चाहिए ताकि हमें कोई हानि न हो । बकरी पालन करने से पहले इन बातों का अवश्य रखे ध्यान

बकरी पालन के लिए सबसे पहले जरुरत पड़ती है बकरी के शेड की जिसमें हमारी बकरियां रहेंगी , मैं आपको छोटे पैमाने पर शुरू करने का सलाह दूंगा क्यूंकि मैंने अपने कई मित्रों को देखा है के वह ज़्यादा पैसा इन्वेस्ट कर देते हैं और फिर फार्म को संभाल नहीं पाते और उन्हें फार्म बंद करना पड़ता है ।

ऐसा कोई भी नियम नहीं है के बकरी पालन में आपका शेड बड़ा ही हो आप छोटे से भी शुरुआत कर सकते हैं जिसमें 10 बकरी और एक नर बकरा रखें । अगर आप की ज़मीन अपनी है तो बहुत अच्छी बात है अगर अपनी नहीं है तो लीज पर लें उसमे छोटा सा शेड बनायें और बांस के बाड़े बना दें ताकि बकरिया जब बाहर आये तो उन्हें धूप मिल सके ।

छोटे से शुरू करने में फायदा यह है के आपकी लागत कम लगती है और आपको बकरियों के रख रखाव और स्वभाव का भी पता चल जाता है

उनके खाने में कितना खर्चा आ रहा है इत्यादि और सब कुछ अगर सही रहा तो आने वाले एक साल में आप के फार्म का प्रोडक्शन बढ़कर 30 हो जायेगा जिसमें कम से कम 20 नए बच्चे और पहले के 10 यह मिला के 30 हो जायेंगे ।

छोटे से फार्म और कम लागत से शुरुआत करने में आपको पहले साल कोई मुनाफा न ही हो आपको अभी अपने फार्म के प्रोडक्शन को बढ़ाना है ।

अब बात करते हैं अच्छे नसल के बकरी के बच्चे की , उन्हें कहाँ से ख़रीदे । दोस्तों मैंने आपको पहले भी बताया है के सबसे अच्छा तो यह है आप अपने जलवायु के अनुकूल ही बकरियों के नसल का चयन करें मगर कुछ लोगो को अच्छे और खूबसूरत नसल के बकरियां पालने का शौक होता है वह भी सही है लेकिन थोड़ा उनका देख रेख ज़्यादा करना पड़ता है आप पाल सकते हैं उदाहरण के रूप में सिरोही बकरा राजस्थान के जलवायु के अनूकोल है लेकिन उसे वेस्ट बंगाल और झारखण्ड में भी लोग पालते हैं थोड़ा केयर करना पड़ता है ।

अब बात करते हैं की अच्छे नसल के बकरे कहाँ से खरीदें, वैसे तो कई व्यापारी हैं जो बकरियों का सप्लाई करते हैं और ट्रांसपोर्ट में आपको माल भिजवा देते हैं लेकिन मैं आपको सलाह दूंगा के आप अगर बकरी मंडी से ख़रीदे तो ज्यादा फायदा होगा बकरियों का सबसे अच्छा और सस्ता मंडी देवनार महाराष्ट्र है जोकि शनिवार और मंगलवार को मार्किट लगती है जिन भाइयों को खरीदना है वहा मार्किट डे से एक दिन पहले चले जाएँ और अपने मनपसंद बकरे बकरी को चुन लें उनका रेट भी बहुत जेन्युइन होता है मैंने देखा है के छोटे अच्छे नसल के बच्चे आपको 3500 -4000 तक आसानी से मिल जाता है । देवनार बकरा मंडी में पहले आप अपने व्यापारी से ट्रांसपोर्टिंग का बात अवश्य कर लें । हमारे जो भाई झारखण्ड बिहार वेस्ट बंगाल के हैं उनके लिए महाराष्ट्र से ट्रांसपोर्टिंग थोड़ा कॉस्टली पड़ सकता है उनके लिए बेहतर है आप अपने गाँव के नजदीकी लगने वाले बाजार से ले लें ।

मैं आपको सिरोही, बीटल , सोजत , तोतापारी , andul बकरे पालने की सलाह दूंगा मुझे सोजत बकरे काफी पसंद हैं यह देखने में बहुत खूबसूरत और जल्दी बाड़े साइज के हो जाते हैं , इनकी खास बात यह है की 12 महीने के बाद यह बहुत जल्दी वेट गेन करने लगते हैं और २-३ महीने में डबल हो जाते हैं ।

बकरी पालन में इन बातों का अवश्य रखे ध्यान :

१) शेड बनाते समय बाउंड्री वाल अवश्य करवा लें , पीने के पानी के लिए एक बोरवेल रखवाली करने के लिए स्टाफ का एक कमरा , अपने स्टाफ पर कभी फार्म को पूरा न छोड़े आप अपना पूरा समय दें , अपने निगरानी में फार्म को रखे हो सके तो एक cctv कैमरा इनस्टॉल करवा लें और अपने मोबाइल पर अपने फार्म को देखते रहे ।

२) हरा चारा का व्यवस्था जरूर कर लें , एक एकड़ जमीन लीज पर लें ले और उसमे हरा चारा लगाएं , यदि जमीन नहीं ले सकते हैं तो hydroponic system से चारा उगाएं और बकरियों को वही खिलाएं

३) बकरियों को बाहर चराने की वैसे आवशकता नहीं है स्टाल फीडिंग ही पर्याप्त है , अगर चराना है तो हफ्ते में २-३ बार बाहर चरा दें

४) बकरा मंडी से बकरा लेने के बाद फार्म में रखते ही उनका डीवॉर्मिंग और वक्सीनशन करवा लें , मैंने सारी डिटेल्स अपने पहले वाली लेख में दिया है ।

५ ) बकरियों के बीमार पड़ते ही वेटनरी डॉक्टर को बुला कर फार्म विजिट करवा लें और बेसिक इंजेक्शन जैसे बुखार , बदहजमी , दर्द , लूज़ मोशन इत्यादि का इंजेक्शन अपने पास रखें और जरुरत पड़ने पर उसे स्वयं दें , बार बार डॉक्टर बुलाने के चक्कर में कई बार देरी भी हो जाती है , बकरियां यदि सुस्त दिखे तो तुरंत उसका फीवर चेक करें अगर फीवर है तो सही डोज़ में पेरासिटामोल  इंजेक्शन दें । इमरजेंसी में सारी दवाई डॉक्टर से पूछ कर रखें और बीमार पड़ने पर स्वयं दें ।

६) हरा चारा के साथ सूखा चारा और दाना भी अवश्य दें मैंने अपने पहले लेख में सूखा चारा बनाने का नियम विस्तार से बताया है ।

फार्म के सही प्रोडक्शन को ध्यान में रखें और बकरे को उचित रेट में ही बेचें अपने फार्म का प्रचार प्रसार खूब करें अपने फार्म का वीडियो यूट्यूब पर डालें लोग आप से खुद बकरी खरीदने के लिए कॉल करेंगे ।

इन बातों को ध्यान में रखते ही बकरी पालन करें और शुरुआत करें छोटे फार्म से 10 -1 या 20 -1 से शुरू करें 2 – 3 pure ब्रीड जरूर रखें, सोजत है तो सोजत नर बकरा , बीटल है तो बीटल , सिरोही है तो सिरोही बकरा , अगर ब्लैक बंगाल छोटी नसल है तो उसे नसल सुधार के लिए बीटल या सिरोही से क्रॉस करवाएं ,

बकरी पालन बहुत ही अच्छा और ज्यादा मुनाफा देने वाला व्यवसाय है बस जरुरत है सही तकनीक और सच्चे लगन से करने की आप जरूर success करेंगे , कोई प्रश्न है तो निचे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं

जरूर पढ़ें –बकरी पालन एक लाभदायक व्यवसाय – जानें पूरा तरीका Goat Farming in Hindi

धन्यवाद्

One thought on “बकरी पालन में इन बातों का रखे ध्यान – सस्ते और अच्छे नसल वाले बकरी के बच्चे कहाँ से खरीदें

Leave a Reply