माँ की ममता कोन भुलाये, कोन भुला सकता वो प्यार, किस तरह बताऊँ केसे जी रहे हम, तू तो बेठी परदेस में, गले तुझे केसे लगाऊ, लेकिन भेज रहा हु प्यार इस एसएमएस में, तेरे बेटा मेरी प्यारी माँ….

You loved this page, please share to help it grow, thanku 🙂 🙂

Comments